Download Kamasutra (सम्पूर्ण कामसूत्र) in Hindi Read Online – महर्षि वात्स्यायन

एक भारतीय महर्षि वत्सयान द्वारा लिखित कामसूत्र, एक प्राचीन पुस्तक है कामसूत्र केवल अपनी अलग-अलग आसनों के लिए जाना जाता है। महर्षि वत्सयान का कामसूत्र दुनिया का पहला Research Paper है। महर्षि वत्सयान का पूरा नाम मल्लोनग वत्सयान है।

बात्स्यायन रचित कामसूत्र ग्रन्थ ७ भागों में विभक्त है जिनमें कुल 36 अध्याय तथा 1250  श्लोक हैं।7 भाग कुछ इस तरह हैं –

 

1. Normal (role) – Part 1 (साधारणम् (भूमिका))

नागरिक की जीवनयात्रा का रोचक वर्णन है।

  1. शास्त्रसंग्रहः
  2. त्रिवर्गप्रतिपत्तिः
  3. विद्यासमुद्देशः
  4. नागरकवृत्तम्
  5. नायकसहायदूतीकर्मविमर्शः

2. Concussion (सेxual union) – Part 2 (संप्रयोगिकम् (यौन मिलन))

रतिक्रीड़ा, आलिंगन, चुंबन आदि कामक्रियाओं वर्णन करता हैं 

  1. प्रमाणकालभावेभ्यो रतअवस्थापनम्
  2. आलिङ्गनविचार
  3. चुम्बनविकल्पाः
  4. नखरदनजातयः
  5. दशनच्छेद्यविहयो
  6. संवेशनप्रकाराश्चित्ररतानि
  7. प्रहणनप्रयोगास् तद्युक्ताश् च सीत्कृतक्रमाः
  8. पुरुषोपसृप्तानि पुरुषायितं
  9. औपरिष्टकं नवमो
  10. रतअरम्भअवसानिकं रतविशेषाः प्रणयकलहश् च

3. Kannasamyampermakamam (wife’s benefit) Kamasutra Part 3 (कन्यासम्प्रयुक्तकम् (पत्नीलाभ))

कन्या का वरण वर्णन करता हैं 

  1. वरणसंविधानम् संबन्धनिश्चयः च
  2. कन्याविस्रम्भणम्
  3.  बालायाम् उपक्रमाः इङ्गिताकारसूचनम् च
  4. एकपुरुषाभियोगाः
  5. विवाहयोग

4. Bharadhikatikam (wife contact) – Kamasutra Part 4 (भार्याधिकारिकम् (पत्नी से सम्पर्क))

भार्या का कर्तव्य, सपत्नी के साथ उसका व्यवहार तथा राजाओं के अंत:पुर के विशिष्ट व्यवहार वर्णन करता हैं 

  1. एकचारिणीवृत्तं प्रवासचर्या च
  2.  ज्येष्ठादिवृत्त

5. Paradarikam (other wife sankranta) – Kamasutra Part 5 (पारदारिकम् (अन्यान्य पत्नी संक्रान्त))

वश में लाने का विशद वर्णन करता हैं 

 

  1. स्त्रीपुरुषशीलवस्थापनं व्यावर्तनकारणाणि स्त्रीषु सिद्धाः पुरुषा अयत्नसाध्या योषितः
  2. परिचयकारणान्य् अभियोगा छेच्केद्
  3. भावपरीक्षा
  4. दूतीकर्माणि
  5. ईश्वरकामितं
  6. आन्तःपुरिकं दाररक्षितकं

6. Vaishikam (Rakshita) – Kamasutra Part 6 (वैशिकम् (रक्षिता))

वेश्याओं, के आचरण, क्रियाकलाप, धनिकों को वश में करने के हथकंडे 

 

  1. सहायगम्यागम्यचिन्ता गमनकारणं गम्योपावर्तनं
  2. कान्तानुवृत्तं
  3. अर्थागमोपाया विरक्तलिङ्गानि विरक्तप्रतिपत्तिर् निष्कासनक्रमास्
  4. विशीर्णप्रतिसंधानं
  5. लाभविशेषाः
  6.  अर्थानर्थनुबन्धसंशयविचारा वेश्याविशेषाश् च

7. Aapnishadikam (ablution) – Kamasutra Part 7 (औपनिषदिकम् (वशीकरण))

यहाँ उन औषधों का वर्णन है जिनका प्रयोग और सेवन करने से शरीर के दोनों वस्तुओं की, शोभा और शक्ति की, विशेष अभिवृद्धि होती है।

 

  1. सुभगंकरणं वशीकरणं वृष्याश् च योगाः
  2. नष्टरागप्रत्यानयनं वृद्धिविधयश् चित्राश् च योगा

 

 

पार्ट १ और २ यहाँ से डाउनलोड करें

Download-Read Online-hindi-books-janhitmejaari

 

पार्ट 3  और 4  यहाँ से डाउनलोड करें

 

Download-Read Online-hindi-books-janhitmejaari

 

पार्ट 5  और 6  यहाँ से डाउनलोड करें Download-Read Online-hindi-books-janhitmejaari

 

Share Button
Download Kamasutra (सम्पूर्ण कामसूत्र) in Hindi Read Online – महर्षि वात्स्यायन was last modified: November 11th, 2017 by जनहित में जारी

Comments

comments

2 thoughts on “Download Kamasutra (सम्पूर्ण कामसूत्र) in Hindi Read Online – महर्षि वात्स्यायन

  • thanks for providing the read online link, i am unable to download in my computer, it is going to save my google drive…

    Reply
  • इस पुस्तक को हर पुरुष को पढ़ना चाहिए। ..पुस्तक को अश्लीलता नहीं ज्ञान की नजर से देखिये। ..यहाँ पर हमारे medical science के कई रहस्य छिपे है। …जान हित में जारी टीम को आभार

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *